Ad

Ad

Ad

अपनी भाषा में पढ़ें

किसानों के लिए खुशखबरी! उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज बिल्कुल मुफ्त पाएं; प्रक्रिया को देखें

26-Feb-24 11:44 PM

|

Share

4,130 Views

img
Posted byPriya SinghPriya Singh on 26-Feb-2024 11:44 PM
instagram-svgyoutube-svg

4130 Views

राजस्थान सरकार दलहन और तिलहन उत्पादों के उत्पादन में वृद्धि करना चाहती है। इसलिए, हम तेल उत्पादन में स्वतंत्र हो सकते हैं और बड़े पैमाने पर ऐसे उत्पादों का आयात नहीं करना पड़ेगा

farmers3.PNG

यदि आप एक किसान हैं, तो आप पहले से ही खरीफ फसल की कटाई में व्यस्त हो सकते हैं ताकि आप रबी फसल के लिए आगे की प्रक्रिया शुरू कर सकें। इसे देखते हुए, राजस्थान सरकार ने सरसों उगाने की सोच रहे किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने राजस्थान के किसानों को नौ उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज मुफ्त में वितरित करने की योजना बनाई है। इस कदम से, लाखों सरसों किसानों को फायदा होगा और उनकी आय में वृद्धि होगी।

राजस्थान सरकार दलहन और तिलहन उत्पादों के उत्पादन में वृद्धि करना चाहती है। इसलिए, हम तेल उत्पादन में स्वतंत्र हो सकते हैं और बड़े पैमाने पर ऐसे उत्पादों का आयात नहीं करना पड़ेगा

राजस्थान सरकार सरसों वितरण योजना

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन-तिलहन के तहत, राजस्थान सरकार किसानों को नौ प्रकार के उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज उपलब्ध कराएगी। सरकार की इस योजना से राजस्थान के 30 जिलों के किसानों को फायदा होगा। और ये किसान इन बीजों को मुफ्त में प्राप्त कर सकेंगे और बड़ी मात्रा में सरसों उगा सकेंगे। इसके अलावा, इन बीजों से किसानों के लिए तुलनात्मक रूप से उच्च उत्पादन और आय सुनिश्चित होने की उम्मीद

है।

सरसों के बीज के कितने मिनिकिट वितरित किए जाएंगे?

राज्य सरकार ने इस साल किसानों को 7,34,400 मिनी किट वितरित करने का लक्ष्य रखा है। इन किटों को राज्य के 30 जिलों में वितरित किया जाएगा। इसके अलावा, हर मिनी किट में 2 किलो सरसों के बीज होते हैं। सूत्रों के अनुसार, उम्मीद है कि ये बीज 3 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सरसों की फसल उगा सकते हैं। तिलहन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए राज्य सरकार की ओर से यह एक शानदार पहल

है।

राजस्थान में नौ अलग-अलग सरसों के बीज कौन से वितरित किए जाएंगे?

रबी सीजन 2022-23 में, सरकार अपना विशेष सरसों बीज वितरण कार्यक्रम चलाती है। इस योजना के तहत, वह राजस्थान के किसानों को नौ उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज मुफ्त में वितरित करेगी। इसके अलावा, कृषि विभाग इस पहल को अंजाम देने के लिए जिम्मेदार होगा। सरसों के किसानों को मिलने वाले उच्च गुणवत्ता वाले बीजों के नाम नीचे दिए गए हैं

  1. आरएच 725
  2. गिरिराज
  3. आरएच-761
  4. सीएस58
  5. आरजीएन-298
  6. पी.एम.-31
  7. आरएच-749
  8. जीएम-3
  9. सी.एस.-60

इसलिए, ये शीर्ष 9 उच्च गुणवत्ता वाले बीज हैं जिन्हें किसान अपनी खेती की आय बढ़ाने के लिए सरसों की फसल में से चुन सकते हैं और उगा सकते हैं।

उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज के फायदे

आप सोच रहे होंगे कि राजस्थान सरकार किसानों को ये उच्च गुणवत्ता वाले बीज मुफ्त में क्यों उपलब्ध करा रही है। खैर, ये बीज उच्च गुणवत्ता के हैं और बड़े पैमाने पर सरसों का उत्पादन कर सकते हैं। इससे अंततः घरेलू सरसों के उत्पादन में वृद्धि होगी और अन्य देशों पर हमारी निर्भरता कम होगी। साथ ही, ये बीज किसी भी फसल की बीमारी से खुद को बचाते हैं। अगर हम RH 725 सरसों के बीज की बात करें, तो वे 136 से 143 दिनों में कटाई के लिए तैयार हो जाते हैं। इस बीज की अच्छी तरह से उगाई गई सरसों का आकार बड़ा होता है, और फलियों की संख्या 18 तक हो सकती है। इसके साथ ही, इसकी शाखाएँ और फलियाँ आम सरसों की फसल की तुलना में बड़ी और चौड़ी होती हैं।

दूसरी ओर, गिरिराज किस्म की सरसों से लगभग 25 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज प्राप्त की जा सकती है। ये बीज किसानों के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं, क्योंकि ये आकार में भारी होते हैं और सामान्य सरसों के बीज की तुलना में अधिक तेल का उत्पादन करते हैं। इसके अलावा, ये फसलें अधिकांश फसलों की बीमारियों को रोकती हैं ताकि किसानों को अपनी फसलों से बेहतर आय मिल सके

किसानों के लिए कौन सा सरसों का बीज सबसे अच्छा है?

यदि आपने राजस्थान सरकार से इन मुफ्त बीजों का लाभ उठाने की योजना बनाई है। उस स्थिति में, RH 725, गिरिराज, और RH 761 सरसों के बीज चुनना अच्छा है। ये बीज बड़े पैमाने पर सरसों की खेती सुनिश्चित कर सकते हैं और आपको अधिक राजस्व प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, CS58, RGN298, और GM3 जैसे अन्य उच्च गुणवत्ता वाले सरसों के बीज भी बेहतरीन हैं। यदि आप इन बीजों का उपयोग करते हैं और आदर्श कृषि पद्धतियों का पालन करते हैं, तो आपकी फसल 143 दिनों में कटाई के लिए तैयार हो जाएगी। साथ ही, इन बीजों पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि इनमें फसल की बीमारी से खुद को बचाने की पर्याप्त क्षमता

होती है।

राजस्थान सरकार से मुफ्त सरसों के बीज पाने के लिए कौन पात्र है?

राजस्थान सरकार ने किसानों के लिए कुछ बुनियादी पात्रता मानदंड निर्धारित किए हैं। इस विशेष सरसों के बीज वितरण कार्यक्रम के तहत, प्रत्येक जिले के लिए कई ग्राम पंचायत कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। वितरण शुरू करने के लिए, अधिकृत संगठन 25 हेक्टर क्षेत्र बनाएगा जहां यह खेती होगी। साथ ही, इन उच्च गुणवत्ता वाले बीजों को मुफ्त में प्राप्त करने के लिए, केवल महिला किसान ही पात्र हैं। सरकार ने यह भी सुनिश्चित किया है कि लगभग 50% छोटे और सीमांत महिला किसान इस बीज वितरण कार्यक्रम से लाभान्वित हों। गरीबी रेखा से नीचे के या एससी और एसटी के अंतर्गत आने वाले किसानों को भी कुछ तरजीह मिलेगी

मुफ्त सरसों के बीज पाने के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप भी मुफ्त सरसों के बीज प्राप्त करने में रुचि रखते हैं तो आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आप राज किसान साथी पोर्टल पर जा सकते हैं, जहां आप जन आधार कार्ड का उपयोग करके इस सुविधा का उपयोग कर सकते हैं और रबी फसल के लिए मुफ्त बीज प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि, अगर आप उलझन में हैं कि मुफ्त बीज के लिए आवेदन कैसे करें, तो आप https://rajkisan.rajasthan.gov.in पर जा सकते हैं। यह राजस्थान सरकार की आधिकारिक वेबसाइट है, जो किसानों के लिए मुफ्त बीज कार्यक्रम चला रही है। आप आवेदन प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं और पसंदीदा बीज का चयन कर सकते हैं।

निष्कर्ष

राजस्थान से संबंधित किसानों के लिए एक अच्छा अवसर है, खासकर अगर वे इस साल सरसों उगाने की इच्छा रखते हैं। इस मुफ्त बीज सुविधा का लाभ उठाकर, आप उच्च गुणवत्ता वाली सरसों के बीज ला सकते हैं जो उच्च मात्रा में फसलों का उत्पादन करने में सक्षम हैं। इसके अलावा, इन बीजों का परीक्षण बड़े आकार की सरसों की फलियों को उगाने के लिए किया जाता है, जिससे नियमित तिलहन की तुलना में अधिक तेल उत्पादन सुनिश्चित होता है। इसलिए, यदि आप इसे उगाते हैं, तो अंतिम फसल को बेचकर आपको अधिक आय होगी

CMV360 आपको हमेशा नवीनतम सरकारी स्कीम, ट्रैक्टर बिक्री रिपोर्ट और आपके लिए प्रासंगिक अन्य समाचारों से अपडेट रखता है। इसके अलावा, हम ट्रैक्टरों पर तुलनात्मक लेख और हमारी विशेषज्ञ समीक्षाएं भी साझा करते हैं, जो अंततः आपको बेहतर आउटपुट प्राप्त करने के लिए सही मशीनरी लाने में मदद करते हैं। इसलिए, यदि आपको कोई ऐसा प्लेटफ़ॉर्म भी मिल रहा है, जहाँ आप एग्रीटेक के बारे में प्रासंगिक जानकारी प्राप्त कर सकें, तो आप इस प्लेटफ़ॉर्म के साथ जुड़े रह सकते हैं

नवीनतम लेख

भारत में वाहन स्क्रैपेज नीति: सरकार ने नए दिशानिर्देश जारी किए

भारत में वाहन स्क्रैपेज नीति: सरकार ने नए दिशानिर्देश जारी किए

इस लेख में, जिम्मेदार वाहन निपटान के लिए सरकार द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों और प्रोत्साहनों के बारे में और जानें।...

21-Feb-24 07:57 AM

पूरी खबर पढ़ें
महिंद्रा ट्रेओ ज़ोर के लिए स्मार्ट फाइनेंसिंग रणनीतियाँ: भारत में किफायती EV समाधानhasYoutubeVideo

महिंद्रा ट्रेओ ज़ोर के लिए स्मार्ट फाइनेंसिंग रणनीतियाँ: भारत में किफायती EV समाधान

जानें कि कैसे महिंद्रा ट्रेओ ज़ोर के लिए ये स्मार्ट फाइनेंसिंग रणनीतियां इलेक्ट्रिक वाहनों की नवीन तकनीक को अपनाते हुए लागत प्रभावी और पर्यावरण के प्रति जागरूक निर्णय लेन...

15-Feb-24 09:16 AM

पूरी खबर पढ़ें
भारत में महिंद्रा सुप्रो प्रॉफिट ट्रक एक्सेल खरीदने के लाभhasYoutubeVideo

भारत में महिंद्रा सुप्रो प्रॉफिट ट्रक एक्सेल खरीदने के लाभ

सुप्रो प्रॉफिट ट्रक एक्सेल डीजल की पेलोड क्षमता 900 किलोग्राम है, जबकि सुप्रो प्रॉफिट ट्रक एक्सेल सीएनजी डुओ के लिए यह 750 किलोग्राम है।...

14-Feb-24 01:49 PM

पूरी खबर पढ़ें
भारत के कमर्शियल ईवी सेक्टर में उदय नारंग की यात्रा

भारत के कमर्शियल ईवी सेक्टर में उदय नारंग की यात्रा

नवोन्मेष और स्थिरता से लेकर लचीलापन और दूरदर्शी नेतृत्व तक, परिवहन में हरित भविष्य का मार्ग प्रशस्त करते हुए, भारत के वाणिज्यिक ईवी क्षेत्र में उदय नारंग की परिवर्तनकारी ...

13-Feb-24 06:48 PM

पूरी खबर पढ़ें
इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन खरीदने से पहले विचार करने के लिए शीर्ष 5 विशेषताएं

इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन खरीदने से पहले विचार करने के लिए शीर्ष 5 विशेषताएं

इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन कई लाभ प्रदान करते हैं, जिनमें कम कार्बन उत्सर्जन, कम परिचालन लागत और शांत संचालन शामिल हैं। इस लेख में, हमने इलेक्ट्रिक कमर्शियल वाहन में निवेश ...

12-Feb-24 10:58 AM

पूरी खबर पढ़ें
2024 में भारत के टॉप 10 ट्रकिंग टेक्नोलॉजी ट्रेंड्स

2024 में भारत के टॉप 10 ट्रकिंग टेक्नोलॉजी ट्रेंड्स

2024 में भारत के शीर्ष 10 ट्रकिंग टेक्नोलॉजी ट्रेंड्स के बारे में जानें। बढ़ती पर्यावरणीय चिंताओं के साथ, ट्रकिंग उद्योग में हरित ईंधन और वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों की ओर बदल...

12-Feb-24 08:09 AM

पूरी खबर पढ़ें

Ad

Ad

web-imagesweb-images

पंजीकृत कार्यालय का पता

डेलेंटे टेक्नोलॉजी

कोज्मोपॉलिटन ३एम, १२वां कॉस्मोपॉलिटन

गोल्फ कोर्स एक्स्टेंशन रोड, सेक्टर 66, गुरुग्राम, हरियाणा।

पिनकोड- 122002

CMV360 से जुड़े

रिसीव प्राइसिंग उपदटेस बाइंग टिप्स & मोर!

फ़ॉलो करें

facebook
youtube
instagram

CMV360 पर वाणिज्यिक वाहन खरीदना आसान हो जाता है

CMV360 - एक प्रमुख वाणिज्यिक वाहन बाज़ार है। हम उपभोक्ताओं को उनके वाणिज्यिक वाहन खरीदने, वित्त, बीमा और सर्विस करने में मदद करते हैं।

हम ट्रैक्टरों, ट्रकों, बसों और तिपहिया वाहनों के मूल्य निर्धारण, सूचना और तुलना पर बहुत पारदर्शिता लाते हैं।